कमीशन के आरोपों पर बिफरे बसंत चतुर्वेदी ने दी मानहानि की धमकी, सभी आरोपों को बताया झूठ….जवाब में शिव सारथी बोले- ठीक हैं देंगे कोर्ट में जवाब….पर अगर संलिप्त नहीं तो पीड़ित शिक्षक का एरियर्स दिलाकर बतायें

रायपुर 13 अप्रैल 2019। एलबी शिक्षक कृष्ण कुमार कश्यप को BEO की तरफ से जारी हुए शो-कॉज नोटिस और फिर कमीशनखोरी को लेकर उठा विवाद गहराता जा रहा है। एरियर्स भुगतान में फेडरेशन के प्रांतीय कोषाध्यक्ष शिव सारथी की तरफ से नगरीय निकाय शिक्षक संघ के प्रांतीय पदाधिकारी बसंत चतुर्वेदी पर लगाये गंभीर आरोपों पर तीखा पलटवार हुआ है। बसंत चतुर्वेदी ने पूरे आरोपों को सिरे से खारिज करते हुए कहा है कि उनका इस प्रकरण से कोई लेना देना नहीं है। उन्होंने तो यहां तक कह दिया है कि अगर इस तरह के आगे बेबुनियाद आरोप और लगाये तो वो शिव सारथी के खिलाफ मानहानि का मुकदमा दायर करेंगे। बसंत चतुर्वेदी ने कहा है कि

वाट्सएप पर अपडेट पाने के लिए कृपया क्लीक करे

“मेरा इस प्रकरण से कोई लेना-देना नहीं है, हमारे संघ की बैठक में खुद एरियर्स के लंबित भुगतान को लेकर मांगें रखी गयी थी, हमने खुद बीईओ को ज्ञापन दिया था, ऐसे में हमारी संलिप्तता कैसे हो सकती है. जहां तक आरोपों का सवाल है तो कमीशन की बात साबित करें शिव सारथी, अगर मेरे पर आगे से ऐसा आरोप लगाया तो मैं मानहानि का मुकदमा दायर करूंगा, क्योंकि ये आरोप पूरी तरह से बेबुनियाद और उन्हें बदनाम करने की कोशिश है”

इधर मानहानि का मुकदमा दायर करने के चैलेंज को शिव सारथी ने भी स्वीकार किया है। उन्होंने अपने बयान पर अडिग रहते हुए कहा है कि अगर वो इस पूरे मामले में संलिप्त नहीं है तो फिर उस शिक्षक को सपोर्ट क्यों नहीं कर रहे। उन्होंने कहा कि

“मेरा बस ये कहना है कि अगर वो इस पूरे मामले में संलिप्त नहीं है तो अभी तक उस शिक्षक को सपोर्ट क्यों नहीं कर रहे, शिक्षक नेता के नाते उन्होंने कृष्ण कुमार की मदद क्यों नहीं की, जहां तक बसंत चतुर्वेदी की तरफ से मेरे पर आरोपों के बदले मानहानि का मुकदमा करने की चुनौती दी गयी है, तो इसके लिए वो स्वतंत्र हैं, मैं भी कोर्ट में जवाब दूंगा, आरोपों में अगर सच्चाई नहीं है तो उस शिक्षक को तुरंत सपोर्ट करें, ताकि पता चल सके की वो इस कमीशन के खेल में नहीं है और शिक्षक के साथ खड़े हैं”

दरअसल एलबी शिक्षक कृष्ण कुमार कश्यप शासकीय हाईस्कूल बोरसी विकासखण्ड बम्हनीडीह जिला जांजगीर-चाम्पा में पदस्थ हैं। महीनों से उनका एरियर्स अटका पड़ा है। आरोप है कि कमीशन के चक्कर में ही उनकी एरियर्स की राशि लटकायी गयी है। जिससे परेशान होकर उक्त शिक्षक ने इसकी शिकायत राज्यपाल को किया, जिससे बौखलाए बीईओ बम्हनीडीह ने उसे अपनी तौहीन समझकर कारण बताओ नोटिस जारी कर तीन दिवस के भीतर जवाब मांग लिया। ।

इस पूरे प्रकरण में सहायक शिक्षक फेडरेशन के प्रांतीय कोषाध्यक्ष शिव सारथी ने बम्हनीडीह बीईओ से तत्काल राहत की मांग करते हुए बसंत चतुर्वेदी पर आरोप लगाये है कि इस पूरे मामले में उनकी भी संलिप्तता है। लिहाजा उन आरोपों पर आज बसंत चतुर्वेदी ने शिव सारथी पर पलटवार किया है।

विज्ञापन

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.