इस टीचर ने ऐसे पूरा किया पत्नी का सपना, रिटायरमेंट के बाद हेलिकॉप्टर से पहुंचा घर

अलवर 31 अगस्त 2019। राजस्थान के अलवर जिले में एक अध्यापक शनिवार को अपनी सेवानिवृत्ति के बाद हेलीकॉप्टर से घर पहुंचे। अध्यापक ने इसे ‘आनंददायी अनुभव बताते हुए कहा कि इसके जरिए उन्होंने अपनी पत्नी के हेलीकॅाप्टर में बैठने के सपने को पूरा किया है।

वाट्सएप पर अपडेट पाने के लिए कृपया क्लीक करे

राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय सौराई में व्याख्याता रमेश चंद मीणा शनिवार को सेवानिवृत्त हुए। उन्होंने स्कूल से अपने गांव मलावली (लक्ष्मणगढ़) जाने के लिए हेलीकॉप्टर बुक करवाया था। स्कूल से विदाई के बाद वह अपनी पत्नी सोमती मीणा व पोते अजय के साथ हेलीकॉप्टर से अपने गांव पहुंचे। राज्य में अपनी तरह का यह पहला किस्सा है जब कोई अध्यापक सेवानिवृत्ति के बाद हेलीकॉप्टर से घर पहुंचा हो।

मीणा ने पीटीआई से कहा, ‘एक दिन छत पर बैठे तो पत्नी ने हेलीकॉप्टर देखकर कहा कि इसमें बैठने का कितना खर्च आएगा। तो उन्होंने सोचा कि पत्नी का यह सपना तो अपनी सेवानिवृत्ति के दिन पूरा कर ही दें। मीणा ने दिल्ली की एक कंपनी से हेलीकॉप्टर बुक किया। इस ग्रामीण इलाके में हेलीकॉप्टर आया देख भारी भीड़ जुट गयी। सौराई से मलावली गांव की 22 किलोमीटर की दूरी हेलीकॉप्टर ने कुल मिलाकर 18 मिनट में पूरी की।

अपनी पहली हवाई यात्रा को आनंददायक बताते हुए मीणा ने बाद में कहा, ‘हम दोनों (दंपत्ति) ने पहली बार हवाई यात्रा की। बहुत आनंद आया। उन्होंने कहा कि इस ‘हेलीकाप्टर यात्रा पर लगभग पौने चार लाख रुपये का खर्च आया। मीणा ने 34 साल से अधिक समय तक शिक्षक के रूप में सेवाएं दीं। उनके दोनों बेटे सरकारी सेवा में हैं।’

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.