अजीत जोगी FIR के खिलाफ जायेंगे कोर्ट….कानून बनने से पहले बने सर्टिफिकेट पर केस दर्ज करने पर जतायी आपत्ति…पूछा- सितंबर में हेलमेट पर कानून लागू होगा, तो उससे पहले बिना हेलमेट लगाने वाले जुर्माना वसूलेंगे क्या ?

रायपुर 30 अगस्त 2019। जाति मामले में FIR दर्ज होने पर अजीत जोगी ने सरकार को आड़े हाथों लिया है। रायपुर में प्रेस कांफ्रेंस में अजीत जोगी ने पुलिस की कार्रवाई को नियम विरुद्ध बताते हुए पूरी कार्रवाई को दुर्भावना से ग्रसित बताया है। अजीत जोगी ने कहा कि जो केस उनके खिलाफ दर्ज किया गया है, वो ST, SC व ओबीसी अधिनियम लागू होने से पहले के केस पर नियम विरूद्ध दर्ज किया गया है।

वाट्सएप पर अपडेट पाने के लिए कृपया क्लीक करे

अजीत जोगी ने कानून बनने के पहले की जाति पर आये फैसले पर एफआईआर दर्ज करने पर कड़ी आपत्ति दर्ज की है। अजीत जोगी का कहना है कि जोगी का कहना 2013 को कानून बना इस लिए ये कानून 2013 के बाद के सर्टिफिकेट पर लागू होगा ना कि उसके पहले के सर्टिफिकेट पर। अजीत जोगी ने कहा कि उनके खिलाफ  एसटी, एससी OBC अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया है। अजीत जोगी ने कहा कि जिस कानून का भूत लक्षित प्रभाव नहीं उसको आधार बनाकर केस दर्ज करा दिया गया ।

जोगी ने कहा कि कानून बना 2013 में और 1986 में बने सर्टिफिकेट पर एफआईआर दर्ज करा दी। अजीत जोगी ने एक दिलचस्प उदाहरण देते हुए सरकार को घेरा कि हेलमेट पर जुर्माना और सजा का कानून सितम्बर से लागू हुआ, तो उसके पहले किसी दिन कोई हेलमेट नहीं पहना, तो उसको आधार बनाकर उससे नये नियम से जुर्माना नहीं वसूल सकते, वैसे ही एसटी, एससी ओबीसी केस में भी हुआ है।

FIR दर्ज होने के मामले में अजीत जोगी जल्द ही याचिका दायर करेंगे। उन्होंने कहा कि सरकार से लेकर पुलिस तक इस मामले में वो पार्टी बनायेंगे।

विज्ञापन

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.