Home विविध समाज का तुगलकी फरमान ….बेटे को नहीं शामिल होने दिया पिता के...

समाज का तुगलकी फरमान ….बेटे को नहीं शामिल होने दिया पिता के अंतिम संस्कार में

115
0

देवभोग ;गरियाबंदद्ध 23 फरवरी 2018। छत्तीसगढ़ के गरियाबंद में समाज का फरमान एक बेटे पर इतना भारी पड़ गया कि पास रहते हुए भी मौत के बाद पिता को बेटे का कंधा नसीब नही हो सका. बेटा घर में बैठकर रोता बिलखता रहाए लेकिन पिता की अंतिम यात्रा में शामिल नहीं हो सका इतना ही नहीं बेटे को पिता का अंतिम दर्शन भी नहीं करने दिया गया.

मामला सुपेबेड़ा गांव का है. जहां किडनी की बीमारी से बीते बुधवार की रात गोवर्धन के पिता कुर्तीराम की मौत हो गयी गोवर्धन समाज के फरमान के कारण अपने पिता की अंतिम यात्रा में शामिल नहीं हुआ. गोवर्धन ने अंतिम यात्रा में शामिल होने की इच्छा जाहिर कीए लेकिन समाज के लोगों ने ऐसा करने से साफ मना कर दिया. गोवर्धन माली द्वारा प्रेम विवाह करने पर समाज ने उसे समाज से बहिष्कृत कर दिया है. साथ ही उसके परिवार को भी उसके साथ बातचीत नहीं करने की हिदायत दी गयी है. यदि परिवार के सदस्य ऐसा नहीं करेंगे तो उन्हें भी समाज से बहिष्कृत करने की चेचावनी दी गयी है. जिसके चलते गोवर्धन माली को पिता का अंतिम दर्शन भी नहीं करने दिया गया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here