Home विविध ….तो क्या छत्तीसगढ़ में भी 29 मई के बाद संविलियन के रास्ते...

….तो क्या छत्तीसगढ़ में भी 29 मई के बाद संविलियन के रास्ते खुल जायेंगे ? मध्यप्रदेश सरकार ऐसे दूर कर रही है संविलियन में आड़े आ रहे ‘डाइंग कैडर” की बड़ी वाधा

3810
0

भोपाल 23 मई 2018। मध्यप्रदेश में शिक्षाकर्मियों के संविलियन को लेकर रास्ता तो पूरी तरह साफ हो गया है.. लेकिन संविलियन में आड़े आ रही डाइंग कैडर की समस्या भी अब 29 मई को खत्म हो जायेगी। अधिकारिक गलियारों में ये चर्चा है कि 29 मई को होने वाली शिवराज कैबिनेट की बैठक में अध्यापक सवर्ग का शिक्षा विभाग में सविलियन हो जायेगा।

ये खबर छत्तीसगढ़ के 1.80 लाख शिक्षाकर्मियों के लिए भी बड़ी खबर है, क्योंकि मध्यप्रदेश के फैसले के आधार पर छत्तीसगढ़ में भी संविलियन का दरवाजा खुलेगा। खुद सरकार भी कह चुकी है कि मध्यप्रदेश में अध्ययन कर आयी टीम अपना सुझाव देगी, जिसके आधार पर संविलियन की प्रक्रिया आगे बढ़ेगी।  मध्यप्रदेश में शिक्षाकर्मियों के संविलियन में जो दिक्कतें आ रही है, वही दिक्कत छत्तीसगढ़ में भी है। डाइंग कैडर का मसला छत्तीसगढ़ में संविलियन की राह में रोड़ा है, लिहाजा अगर मध्यप्रदेश में डाइंग कैडर को लेकर कोई रास्ता निकाल लिया जाता है, तो छ्त्तीसगढ़ में भी संविलियन की राह आसान हो जायेगी।

ये बातें राज्य अध्यापक संघ के प्रतिनिधिमंडल से मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की बातचीत के दौरान भी सामने आयी है कि 29 मई की केबिनेट में अध्यापक सवर्ग का शिक्षा विभाग में सविलियन कर दिया जायेगा। राज्य अध्यापक संघ के प्रदेश अध्यक्ष जगदीश यादव ने अपने फेसबुक पोस्ट में भी कहा है कि उनकी मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से हुई मुलाकात में आश्वस्त किया गया है कि “29 मई की कैबिनेट में पूर्ववर्ती सरकार के डाइंग कैडर को जीवित कर शिक्षा विभाग में संविलियन का प्रस्ताव पास हो जायेगा और नवीन शैक्षणिक सत्र के पूर्व मध्यप्रदेश के सभी अध्यापक शिक्षक होंगे”

दरअसल शिक्षाकर्मियों के संविलियन के लिए शिक्षाकर्मियों के डाईंग घोषित किये जा चुके कैडर को पुनर्जिवित करना जरूरी है, तभी दूसरे विभाग में संविलियन की प्रक्रिया पूरी की जा सकेगी। लिहाजा 29 मई को शिवराज कैबिनेट संविलियन की उस आखिरी बाधा को भी पार कर लेगी, ऐसी उम्मीद जतायी जा रहा है।

जगदीश यादव ने अपने फेसबुक पोस्ट में लिखा है कि माननीय मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि मैंने अध्यापक संवर्ग के हितार्थ शिक्षा विभाग में संविलियन का ऐतिहासिक निर्णय आपके कहे अनुसार लिया है। मैने जो घोषणा की है उसको पूरा करने के लिये वचनवद्ध हूँ, जो शत प्रतिशत चरितार्थ होगा। उन्होंने कहा कि आगामी 29 मई को कैबिनेट में उक्त प्रस्ताव पास किया जाएगा और हर हाल में शैक्षणिक सत्र के प्रारंभ होने के पूर्व अध्यापक शिक्षक बन चुके होंगे। अन्तर्निकाय संविलियन में आ रही रुकावटों को दूर कर अध्यापकों का स्थानांतरण भी 29 मई के बाद अवश्य होगा”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here