Home राजनीति इन सीटों पर जीत के करीब जाकर हार गई भाजपा, कुछ मतों...

इन सीटों पर जीत के करीब जाकर हार गई भाजपा, कुछ मतों के अंतर से मिली हार

711
0

नई दिल्ली, 15 मई 2018। कर्नाटक विधानसभा चुनाव का नतीजा बेशक भाजपा की जनता के बीच बढ़ती पहुंच दर्शाता है। लेकिन अभी तक की मतगणना में कुछ सीटों के घोषित नतीजों से भाजपा को करारा धक्का लगा है। इन सीटों पर भाजपा कुछ अंतर से जीत से दूर रह गई। ऐसी लगभग पांच सीटें हैं जहां भाजपा 1000 या 2000 से भी कम वोटों के अंतर से हारी है। इन सीटों में बादामी विधानसभा सीट भी है। जहां भाजपा के श्रीमालु कांग्रेस के सिद्धारमैया से महज 1696 वोटों से हार गए। ऐसी ही और कई विधानसभा सीटें हैं जहां भाजपा जीत के मुहाने पर आकर हार गई।

1.कर्नाटक की बादामी विधानसभा सीट चुनाव से पहले ही सुर्खियों में थी। सिद्धारमैया (कांग्रेस) ने 1,696 वोट से जीत दर्ज की। उन्हें बी श्रीरामुलु (भाजपा) से कड़ी टक्कर मिली। यह सीट कांग्रेस और भाजपा दोनों ही पार्टियों के उम्मीदवारों के लिए नई सीट थी।

2.हिरेकेरुर विधानसभा सीट पर कांग्रेस और भाजपा के बीच कांटे की टक्कर देखने को मिली। यहां भी जीत का मार्जिन महज 555 मतों का रहा।  कांग्रेस के बासावानागौडा पाटिल को भाजपा के उजनेश्वरा बानाकर से जीत मिली है।

3.श्रींगेरी विधानसभा सीट पर कांग्रेस के टीडी राजेगौड़ा ने भाजपा के डीएन जीवाराज को महज 1989 वोटों के अंतर से हराया है।

4.येल्लापुर विधानसभा सीट पर भी भाजपा और कांग्रेस के बीच कड़ी टक्कर देखने को मिली। यहां कांग्रेस के अराबैल हेब्बार शिवराम ने भाजपा के अंदालागी पाटिल को 1483 वोटों से मात दी है। पिछले विधानसभा चुनाव में इस सीट पर कांग्रेस वोटों के भारी अंतर से जीती थी।

5.येमकानमर्डी विधानसभा सीट पर कांग्रेस के सतीश एल जरकिहोली को जीत हासिल हुई है। उन्होंने भाजपा के असतगी मारुति मलप्पा को 2850 वोटों से हराया ह

भाजपा की जीत का जश्न पड़ा फीका

कर्नाटक विधानसभा चुनाव के नतीजे कुछ ही देर में आ जाएंगे। अभी तक की मतगणना में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) राज्य में सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी है। पिछले विधानसभा चुनाव की तुलना में कांग्रेस का कद छोटा हुआ है। कांग्रेस के बाद जेडीएस तीसरी बड़ी पार्टी है। अभी तक हुई मतगणना के बाद सामने आए आंकड़ों से भाजपा में खुशी भी है और साथ ही सत्ता पाने की चिंताएं भी।

चुनाव नतीजे के रुझानों को देखते हुए कांग्रेस ने समझदारी दिखाते हुए जेडीएस को समर्थन देने की घोषणा कर दी है। कांग्रेस और जेडीएस की दोस्ती भाजपा के लिए चिंता का विषय बन गई है। सभी सीटों का योग(104) भाजपा को कर्नाटक की सत्ता दिलाने के लिए नाकाफी है। ऐसे में भाजपा की क्या रणनीति सामने आएगी ये तो आने वाला वक्त ही बताएगा।

यहां हारते-हारते जीत गई भाजपा

अलंद विधानसभा सीट पर भाजपा के उम्मीदवार गुट्टेदार सुभाष रुकमय्या का किस्मत ने साथ दिया। रुकमय्या को महज 697 वोटों से जीत मिली है। उन्होंने कांग्रेस के कांग्रेस के बीआर पाटिल को हराया है। पिछले विधानसभा चुनाव में बीआर पाटिल भारी मतों से जीते थे।

यहां जेडीएस और कांग्रेस में थी कांटे की टक्कर

सिंधानुर विधानसभा सीट पर कांग्रेस और जेडीएस के बीच कांटे की टक्कर देखने को मिली। जेडीएस के वेंकटराव नादागौड़ा ने कांग्रेस के बदरली हमपानगौड़ा को 1597 वोटों से हराया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here