Home विविध संविलियन को लेकर शिक्षाकर्मियों का नया अभियान “विडियो बनाओ-दुखड़ा सुनाओ” !…. अपने...

संविलियन को लेकर शिक्षाकर्मियों का नया अभियान “विडियो बनाओ-दुखड़ा सुनाओ” !…. अपने दर्द को शिक्षाकर्मी कर रहे हैं साझा….बता रहे सब परेशानी का एक ही इलाज ‘संविलियन’

2183
0

रायपुर 14 मई 2018। शिक्षाकर्मियों को संविलियन हर कीमत पर चाहिये, लिहाजा शिक्षाकर्मियों ने आंदोलन को ना सिर्फ संगठन तक सिमटाकर रखा है, बल्कि अलग-अलग तरीकों से शिक्षाकर्मी अपनी मांगों में धार लाने की कोशिश कर रहे हैं। संविलियन सेल्फी, सेल्फी विथ कम्युनिटी, सेल्फी विथ स्टूडेंट जैसे कार्यक्रमों के बीच अब मोर्चा ने नया अभियान  “विडियो बनाओ-दुखड़ा सुनाओ” शुरू किया है।

इसके तहत शिक्षाकर्मी अपनी-अपनी परेशानियों का वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर साझा कर रहे हैं, ताकि पता चल सके, शिक्षाकर्मी किन परेशानियों से जूझ रहा है। इस अभियान का शिक्षाकर्मी लगातार हिस्सा बनते जा रहे हैं। चाहे बात तबादला नीति ना होने से परेशानी की बात हो या फिर भत्ता और वेतन की लेटलतीफी की बात, शिक्षाकर्मी अपनी परेशानी का वीडियो बनाकर अपनी परेशानी को साझा कर रहे हैं।

शिक्षक पँ ननि मोर्चा छग के प्रांतीय संचालक वीरेन्द्र दुबे ने इस मुहिम को असरकारक बताते हुए कहा कि-

ऐसी अलग अलग व्यथाएँ प्रत्येक शिक्षाकर्मी की है, वजह है “कर्मी” व्यवस्था के चलते दोयम दर्जे का व्यवहार, वेतन की अनुपलब्धता, चिकित्सा, स्थानांतरण जैसी सुविधाओ का ना मिलना,सबसे खराब हालत तो अनुकम्पा नियुक्ति नही होने से दिवंगत परिवार की है,इन सभी समस्याओं के स्थाई निदान की मांग करते करते हम ज्ञापन, धरना, रैली, आंदोलन, जेलयात्रा, निलम्बन, बर्खास्तगी, महापंचायत आदि के जरिये अब हम संविलियनगड़ी तक पहुँचे हैं। वर्तमान स्थिति के लिए केवल सरकार जिम्मेदार है, जल्द ही संविलियन की घोषणा हो अन्यथा 26 मई तक हम व्यथा, अपनी पीड़ा इस तरह विडियो बनाकर हम मुख्यमंत्री जी और समाज के बीच रखेंगे, संविलियनगड़ी (मित्र और पोस्टर) के जरिये संविलियन हेतु समर्थन प्राप्त करेंगे।

शालेय शिक्षाकर्मी संघ के प्रांतीय महासचिव धर्मेश शर्मा ने कहा कि

“विडियो बनाओ-दुखड़ा सुनाओ” मुहिम को आपेक्षित प्रतिक्रिया बताते हुए कहा- ये समस्याग्रस्त शिक्षाकर्मी साथियों की स्वाभाविक पीड़ा है,जो इन विडियो में दिखाई पड़ रहा है। संविलियन ही समग्र समाधान है।

शिक्षक पँ ननि मोर्चा छग के प्रांतीय उपसंचालक जितेन्द्र शर्मा इस मुहिम को सोशल मिडिया की क्रांति का एक हिस्सा मानते हुए कहा कि-

आज सोशल मीडिया के जरिये हमारे शिक्षाकर्मी साथी अपनी करुण भावनाओं की अभिव्यक्ति कर पा रहे हैं, हम अपनी पीड़ा अपने संवेदनशील मुख्यमंत्री जी और सुधीजनों तक पहुंचाना चाहते हैं। अब संविलियन में विलम्ब नही होना चाहिए और ना ही शिक्षाकर्मियों को संविलयन से कम कुछ और मंजूर होगा।अंत मे श्री दुबे जी, और शर्मा द्वय ने अपील करते हुए कहा कि प्रदेश के समस्त समस्याग्रस्त साथी अपनी पीड़ा सोशल मीडिया के सभी मंचो पर रखें ताकि जल्द से जल्द संविलियन का मार्ग प्रशस्त हो।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here